Symptoms

बार-बार लगती है भूख, कहीं ब्लड शुगर लो तो नहीं? जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय

Hypoglycemia Remedies: जिनके खाने-पीने की टाइमिंग फिक्स होता है, उन लोगो में ब्लड शुगर संतुलित रहता है

Low Blood Sugar Symptoms (लो ब्लड शुगर के लक्षण) : शरीर में ब्लड शुगर बढ़ने के खतरों से ज्यादातर लोग वाकिफ हैं. मधुमेह के रोगियों का ब्लड शुगर कई बार अनियमित हो जाता है।

वहीं लो ब्लड शुगर की समस्या भी लोगों के लिए काफी परेशानी का कारण बन सकती है। हालांकि, मधुमेह रोगियों के अलावा स्वस्थ लोगों को भी इस समस्या का सामना करना पड़ता है।

आम तौर पर, शरीर में ग्लूकोज का स्तर 80-110 मिली / डीएल के बीच होता है और 90 मिली / डीएल औसत रक्त शर्करा के स्तर के रूप में माना जाता है।

बता दें कि ब्लड शुगर यानी ग्लूकोज मुख्य रूप से शरीर को एनर्जी देने का काम करता है। ऐसे में ज्यादा भूख लगना भी इस बीमारी की ओर इशारा करता है।

अधिक भूख क्यों लगती है

जैसा कि ऊपर बताया गया है, शरीर को ऊर्जावान बनाए रखने के लिए ग्लूकोज का भरपूर मात्रा में होना आवश्यक है। ब्लड शुगर कम होने पर शरीर में ग्लूकोज की मात्रा कम हो जाती है।

इससे ऊर्जा की हानि हो सकती है। ऐसे में शरीर खाने के लिए ग्लूकोज को खाने से लेने लगता है, जिससे भूख ज्यादा लगती है। इसलिए खाना खाने के बाद भी अगर आपको खाली पेट लगता है या फिर जल्दी ही फिर से भूख लगती है तो यह शरीर में ग्लूकोज की कमी का संकेत देता है।

ये हैं दूसरे लक्षण

लो ब्लड शुगर के कारण लोगों को चक्कर आने या बेचैनी की शिकायत भी हो सकती है. वहीं, नींद की कमी और रात में पसीना आना भी लो ब्लड शुगर के लक्षण हैं।

इसके अलावा जब शरीर में ग्लूकोज का स्तर कम हो जाता है तो आंखों के आगे कालेपन की समस्या भी हो सकती है। हाइपोग्लाइसीमिया रोग यानि लो ब्लड शुगर से पीड़ित लोगों को भी हाथ-पैर में चिड़चिड़ापन और कांपने की शिकायत हो सकती है।

ऐसे करें परहेज

अपनी दिनचर्या के प्रति जागरूक रहना बेहद जरूरी है. ब्लड शुगर उन लोगों के लिए संतुलित रहता है जिनके खाने पीने का समय निश्चित होता है।

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के अनुसार, सामान्य तौर पर, एक स्वस्थ व्यक्ति को एक दिन में अधिकतम 9 चम्मच चीनी का सेवन करना चाहिए। जबकि महिलाएं दिन भर में 6 चम्मच चीनी खा सकती हैं।

अगर ग्लूकोज का स्तर बार-बार गिर रहा है, तो आपको अपने आहार में कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button