Diet and Exercise

Health Tips : रोजाना खाएं सिर्फ एक आंवला, बिना दवा के दूर हो जाएगी इन बीमारियों की जटिलताएं

आंवले के सेवन से ब्लड शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। आंवला में फाइबर की उच्च मात्रा होती है जो आपके रक्त प्रवाह में शुगर के अवशोषण को धीमा कर देता है, जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ने नहीं पाता है।

सर्दियों के मौसम में कई फल और सब्जियां बहुतायत में उपलब्ध होती हैं, जिन्हें सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। आंवला भी ऐसा ही एक फल है, जिसे भारत सहित दुनिया के तमाम देशों में कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ के लिए सेवन किया जाता है।

आंवले का अचार या मुरब्बा, न केवल स्वाद में लाजवाब होता है, साथ ही इसके रोजाना सेवन को आंखों और त्वचा के साथ अन्य अंगों की सेहत भी बेहतर बनी रहती है।

डायबिटीज जैसे रोग में विशेषज्ञ आंवले के जूस के सेवन की सलाह देते हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि आंवले में कई ऐसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में उपलब्ध होते हैं, जिनको सेहत के विशेष आवश्यक माना जाता है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक सर्दियों के मौसम में रोजाना एक आंवले के सेवन की आदत बना लेनी चाहिए। यह छोटा सा फल कैल्शियम, फाइबर और विटामिन-सी से भरपूर होता है। आइए इससे सेहत को होने वाले फायदों के बारे में जानते हैं।

एंटीऑक्सिडेंट्स से होता है भरपूर

एंटीऑक्सिडेंट वह यौगिक होते हैं जो शरीर को फ्री रेडिकल्स के प्रभाव से लड़ने में मदद करते हैं। माना जाता है कि एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर आहार कुछ प्रकार के कैंसर, हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह, उम्र बढ़ने के जोखिम को कम करने के साथ मस्तिष्क को होने वाली क्षति से बचाते हैं। आंवले में कई प्रकार के प्रभावी एंटीऑक्सिडेंट्स मौजूद होते हैं, ऐसे में इसका सेवन बेहद फायदेमंद हो सकता है।

डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद

आंवले के सेवन से ब्लड शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। आंवला में फाइबर की उच्च मात्रा होती है जो आपके रक्त प्रवाह में शुगर के अवशोषण को धीमा कर देता है, जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ नहीं पाता है।

इसके अलावा, टेस्ट-ट्यूब अध्ययनों से पता चलता है कि आंवले का अर्क अल्फा-ग्लूकोसिडेज़ अवरोधक है। इसका मतलब यह है कि यह आपकी छोटी आंत में विशेष एंजाइमों को प्रतिबंधित करता है, जिससे रक्त प्रवाह में शुगर का स्तर बढ़ने नहीं पाता।

हृदय रोगों से मिलती है सुरक्षा

आंवला जैसे फलों का सेवन हृदय रोग के खतरे को कम कर देता है। आंवले में एंटीऑक्सिडेंट और पोटेशियम जैसे कई पोषक तत्व होते हैं जो हृदय के स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं ।

एंटीऑक्सिडेंट रक्त में एलडीएल (बैड) कोलेस्ट्रॉल के ऑक्सीकरण को रोककर हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है। आंवला का रोजाना सेवन लाभदायक माना जाता है।
विज्ञापन

इम्यूनिटी के लिए फायदेमंद

आंवला का रस विटामिन-सी का अच्छा स्रोत है, जो पानी में घुलनशील विटामिन है जो एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है। एक समीक्षा के अनुसार, आंवले में 600-700 मिलीग्राम विटामिन-सी की मात्रा होती है। ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के खिलाफ कोशिकाओं की रक्षा के अलावा, विटामिन सी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देता है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button